वक़्त


वक़्त की तलाश है
ढूँढता रहता हूँ हर सूं आज कल
कभी कहीं मिल गया तो 
पूछना है 
कि 'यार तू थकता नहीं है क्या?'
आ बैठ ले ज़रा, सुस्ता ले, आराम कर.


2 comments:

Kopal said...

Mere Paas to waqt hi waqt hai...
Pal do pal ya zindagi lelo...
Thank gaye hain bhaag bhaag k...
Ab aaram mujhe us kabr me dedo...

Aadii said...

:)