रात और दिन

रात और दिन
सच में उलटे हैं
जैसे एक ही कोख से जन्मे
दो अलग-अलग फितरत के भाई बहन..

दिन बोलता बहुत है,
लेकिन कुछ कहता नहीं.

रात कुछ नहीं बोलती,
लेकिन बहुत कुछ कह देती है.


4 comments:

kaushu400 said...

Nice

shivani gaur said...

एक अलग ही नजरिया दे दिया आपने रात और दिन को देखने का

Vidisha said...

nice :)

Aadii said...

thanks everyone :)